(ध्यान) Meditation Kaise Kare-Dhyan kaise kare

आपका स्वागत है दोस्तों इस वेबसाइट  में।  मैं आपको बताऊंगा कि Meditation Kaise Kare और किस तरह से ध्यान की शुरुआत करनी है अगर आप एक beginner हैं और आपको यह नहीं पता कि मेडिटेशन को मैं कैसे स्टार्ट करूं और  उसके अलावा उन लोगों के लिए भी  इंपॉर्टेंट है  जिन्होंने अभी अभी meditation शुरू किया है पर कंफ्यूज है की शुरुआत कैसे करे।  

Meditation एक बेहतरनी तरीका है।  जिससे आप अपने मन और दिमांग दोनों को control  कर सकते है।  इससे आपकी एकाग्रता (concentration) power  बढ़ जाती हैं। 

Meditation:

Meditation को हिंदी में “ध्यान” कहते हैं इसका मतलब एकाग्रता यानी कि हमारे मन में चल रही उत्तल पुत्तल और  इछाओ  पर काबू पाना।  मेडिटेशन एक ऐसा रास्ता है जो हमारे जीवन को बेहतर बनाने में हमारी मदद करता है यह ना केवल हमारी मानसिक शांति को बनाए रखने में योगदान देता है बल्कि हमारे जीवन के उद्देश्य को प्राप्त करने में हमारी मदद करता है फिर भी बहुत सारे लोगों को मेडिटेशन के बारे में पता ही नहीं होता कि मेडिटेशन क्या है और Meditation Kaise Kare. मेडिटेशन ऐसा तरीका है। जिससे आप अपनी इच्छाओं को नियंत्रित कर सकते हैं और अपने मन को शांत करके अपने जीवन के उद्देश्य को प्राप्त कर सकते हैं।

इस  तकनीक से बीमारी  ठीक कर सकते  है कैंसर ठीक कर सकते  है चमत्कार भी कर सकते  है और आपके  रिलेशनशिप भी अच्छी कर सकते  है।

Meditation Kaise Kare(मेडिटेशन की शुरुआत कैसे करें?)

ध्यान करने का सबसे सही समय Brahma Muhurta सुबह (3:30 -5:30 बजे ) होता है। लेकिन आप आपने जरुरत के हिसाब से समय चुन सकते है।  आप शाम का समय या फिर रात को सोने से पहले ध्यान कर सकते है।  और आपको कोशिश करना है की एक ही समय पर ध्यान करना है यानी अगर आप सुबह का समय चुनते है तो सुबह ही करे हर दिन। 

शुरुआत में आपको छोटे समय के लिए करना है। और धीरे धीरे अपना समय को बढ़ाना है। भोजन लेने के 2 -3 घंटे बाद ही मैडिटेशन शुरू करे।  

मेडिटेशन की शुरुआत कैसे करें? यह जानने के लिए निचे दिए गए basic step को follow  करे:

Step 1. मैडिटेशन करने के लिए आराम दायक जगह और शांत वातावरण चुने

Meditation करने के लिए खुली जगह एवं शांत जगह हो बहुत ही अच्छा होता हैं पर पंछी की आवाज़ आती हो तोह भी अच्छा होता है Meditation  के लिए। इसलिए ऐसी जगह का चयन करें, जहाँ किसी भी तरह का शोर ना हो परंतु उस जगह पर यदि  शुद्ध ठंडी हवा और पक्षियों के चहचहाट की मधुर आवाज आ रही हो तोह वह आपके मन में एक अद्भुत ऊर्जा और  शांति  देती है।

Step 2. Meditation करने के लिए सही समय का चुनाव।

मैडिटेशन करने का सही समय Brahma Muhurta सुबह 3 बजे होता है लेकिन आज के भाग दौड़ जिंदगी में सभी के पास समय नहीं हो पाता है इसीलिए सुबह ,शाम और रात्रि में सोने से पहले मैडिटेशन का समय चुन सकते हैं।

Step 3. Meditation करने की अवस्था (posture) का चयन करे।

अपनी सुविधा अनुसार किसी भी अवस्था का चयन सकते है. किसी भी अवस्था जैसे बैठकर, लेटकर, खड़े होकर मेडिटेशन कर सकते है। बैठकर करना सबसे अच्छा होता है. इस अवस्था में आपका spine(रीढ़ की हड्डी ) सीधा होता है और आप बेहतर तरीके से breathe in or out कर सकते हैं परंतु आप अपनी इच्छा के अनुसार किसी भी अवस्था मे मेडिटेशन कर सकते है।

Step 4. इस step मै आपको अपनी सांसो पर ध्यान देना हैं।

मैडिटेशन करते समय शुरू शुरू में कठिनाई आएगी या मान के चले। इस Meditation की विधि को follow करे। कुछ दिनों के बाद आप खुद महसूस करेंगे की आपका मन शांत हो गया है और तनाव दूर हो गया है। आपकी पूरी life बदल जाएगी अगर निरंतर इसे करते है तोह।

  • अब आप किसी भी अवस्था में हो आप आपने शरीर को ढीला (relax) रखना है।
  • आप बैठकर और खड़े हो कर meditation कर रहे है तोह अपना spine को सीधा रखे।
  • आप अपने आँखों का कोमलता से बंद करे, उस पर किसी भी तरह का तनाव ना हो।
  • अब धीरे-धीरे गहरी साँस ले और छोड़े इस प्रक्रिया हो ३ बार करे,
  • अब चौथी बार में गहरी साँस के साथ साथ आपका पेट अंदर और बाहर हो रहा है इसको भी महसूस करते रहे।
  • श्वास लेते समय अपने मन में यह महसूस करे की हमारे शरीर में पॉजिटिव एनेर्जी आ रही है।
  • श्वास छोड़ते समय अपने मन में यह महसूस करे की हमारे शरीर में जो भी नेगेटिव एनेर्जी एवं तनाव है वो जा रही है।
  • बीच बीच में आपके मन में बहुत सरे विचार आएंगे और बाहरी आवाज़ भी आएंगे ,उससे आपको लड़ना नहीं है।
  • विचार एवं आवाज़,आएंगे उसे आने दे वो स्वता ही चले जायेंगे।
  • श्वास को लेने और छोड़ने के पैटर्न को जारी रखे।
  • इस सारे प्रक्रिया को शुरू में 5 min करे और धीरे धीरे अपने मैडिटेशन के समय को बढ़ाये।

इस विधि को पूरी होने के बाद आंखों को आराम से धीरे-धीरे खोले और मन में शांति का अनुभव महसूस करे।
इसे आप दिन में 2 बार भी कर सकते है।

निष्कर्ष :

इस आर्टिकल को “Meditation Kaise Kare” अपने फॅमिली और दोस्तों के साथ ज़रूर Share कीजिये और अगर आपको हमारा यह लेख ‘मेडिटेशन क्या है और कैसे करें’ पसंद आया है तोह मै बीच बीच में इस विधि को update भी करता रहूँगा। आपके पास हमारे लिए कोई प्रश्न हो, तो उसे Comment में लिखकर हमें बताए।

Leave a Comment